Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > कश्मीर से आई इस ख़बर ने उड़ाई कट्टरपंथियों की नींद – ये है मोदी सरकार का असर

कश्मीर से आई इस ख़बर ने उड़ाई कट्टरपंथियों की नींद – ये है मोदी सरकार का असर

मोदी सरकार को बुरी कहने वालों के लिए कश्मीर से जो ख़बर आई है वो उन्हें ज़रूर पढ़नी चाहिए l मोदी सरकार ने कश्मीर में सेना को खुली छूट दे रखी है और इसी का नतीज़ा है कि सेना कश्मीर में एक एक आतंकी को चुन चुन कर मार रही है l अब तक कई आतंकियों को सेना ने 72 हूरों के पास भेज दिया है और अभी कई आतंकी उसकी हिट लिस्ट में शामिल हैं l

पाकिस्तान से आने वाले आतंकियों को भी सेना बेझिझक ठोंक रही है  और अब उसी राह पर जम्मू कश्मीर पुलिस भी चलने लगी है l रविवार को भी जम्मू कश्मीर पुलिस ने कश्मीर के उरी में पाकिस्तानी हमले को नाकाम कर दिया और 2 आतंकी मार गिराए l

रविवार को कश्मीर के उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षा बलों ने रविवार को पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) के हमले को नाकाम कर दिया, जिसमें दो आतंकवादी मारे गए l

demo pic

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस पी वैद ने बताया कि संभावित त्रासदी को टाल दिया गया है l डीजीपी ने ट्विटर पर लिखा कि  ‘बीएटी के इस हमले को सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने नाकाम कर दिया है l दुलांजा उरी में दो आतंकवादी मारे गए. हमारी तरफ कोई हताहत नहीं हुआ है. संभावित त्रासदी को टाल दिया गया है.’ उन्होंने इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी l

सेना ने इससे पहले बताया था कि उत्तरी कश्मीर में बारामूला जिले के उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सेना ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी, जिसमें दो आतंकवादी मारे गए l

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के ख़िलाफ़ भारतीय आर्मी लगातार एक्शन में है और हाल ही में सेना की ओर से कहा गया था कि लगभग 115 आतंकी जम्मू-कश्मीर में एक्टिव हैं l इनमें अधिकतर आतंकी दक्षिण कश्मीर में हैं l

सेना के अफसर बीएस राजू ने 3 नवंबर को जानकारी दी थी कि इन 115 आतंकियों में से 99 लोकल आतंकी हैं और 15 विदेशी आतंकी हैं l उन्होंने ये भी बताया था कि सेना ने पिछले 6 महीने में लगभग 80 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया है l

आपको बता दें कि भारतीय सेना ने कुछ समय पहले ही घाटी में आतंकियों का सफाया करने के लिए ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ लॉन्च किया था और ये अभी भी जारी है l

आतंकी लगातार सेना के कैंपों या फिर आम जनों पर हमला करते हैं और अब आतंकियों को सबक सिखाने के लिए अब सेना ने भी अपने ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ में कुछ लक्ष्य तय किए हैं l सेना के निशाने पर अब जाकिर मूसा (अल कायदा), रियाज नाइकू (हिजबुल मुजाहिद्दीन), सद्दाम पाडर (हिजबुल मुजाहिद्दीन), जीनत उल इस्लाम (लश्कर) और खालिद (जैश-ए-मोहम्मद) हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *