Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > बड़ी ख़बर : राम रहीम के कांग्रेस कनेक्शन की खुली पोल – डेरा समर्थकों की आड़ में कांग्रेसी कर रहे हैं गुंडागर्दी ?

बड़ी ख़बर : राम रहीम के कांग्रेस कनेक्शन की खुली पोल – डेरा समर्थकों की आड़ में कांग्रेसी कर रहे हैं गुंडागर्दी ?

डेरा सच्चा सौदा के गुरु राम रहीम को शुक्रवार को पंचकूला की सीबीआई कोर्ट ने एक मामले में बलात्कार का दोषी मानते हुए उन्हें जेल भेज दिया l कोर्ट 28 अगस्त को इस मामले में बाबा को सजा सुनाएगी और ये माना जा रहा है कि बाबा को कम से कम 7 साल की सज़ा हो सकती है l

पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को साध्वी यौन शोषण केस में शुक्रवार को दोषी करार दिया। सीबीआई अदालत का फैसला आते ही फौरन बाबा राम रहीम को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। सोमवार( 28 अगस्त) को अदालत उनकी सजा के बारे में फैसला सुनाएगी।

जिस वक्त अदालत में फैसला सुनाया जा रहा था डेरा सच्चा सौदा प्रमुख वहीं मौजूद थे। आपको बता दें कि रेप केस में एक बार अदालत से दोषी करार दिए जाने के बाद कम से कम सात की सजा हो सकती है जबकि इसकी अधिकतम सीमा दस साल से लेकर फिर आजीवन कारावास तक है। राम रहीम पर आईपीसी की जिन 376 और 506 धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ है उनमें कम से कम सात साल की सजा हो सकती है। हालांकि, 506 (पीड़ित को धमकाने) के लिए अधिकतम दो साल की सजा का प्रावधान है।

सीबीआई की विशेष अदालत ने 50 वर्षीय डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के ख़िलाफ़ पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट के बाहर हजारों की तादाद में जमे डेरा समर्थकों को देखते हुए कडी़ सुरक्षा के बीच यह फ़ैसला सुनाया।

हालांकि, विशेष अदालत के फ़ैसले से क़रीब दो घंटे पहले पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार से यह कहा था कि अगर जरूरत पड़े तो वो बल प्रयोग करे । हाईकोर्ट ने आगे कहा कि अगर गुरमीत राम रहीम का कोई भी समर्थक कानून तोड़ता है या फिर भड़काऊ बयान देता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करें।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्ट ने शुक्रवार को कहा अदालत के बाद किसी तरह की स्थिति से निपटने के लिए उनकी सरकार पूरी तरीके से तैयार है। खट्टर ने कहा कि जो भी फ़ैसला आएगा उसे हम लागू करेंगे। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिये तैयार है। इसके साथ ही हरियाणा के मुख्यमंत्री ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की । शुक्रवार को सीबीआई की विशेष अदालत का फ़ैसला आने से पहले पंचकूला में सेना के जवानों को तैनात किया गया था। इसके साथ ही, अर्धसैनिक बलों की 53 कंपनियां और करीब 50 हजार हरियाणा पुलिस बल की तैनाती की गई थीं l

ये वाकया है साल 2002 का। उस समय डेरा की साध्वी ने एक अनाम ख़त तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को लिखते हुए कहा था कि उनका डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख ने यौन शोषण किया। प्रधानमंत्री के नाम लिखे इस पत्र में साध्वी ने ये भी लिखा था कि गुरमीत राम रहीम ने सिरसा में बने डेरा के अंदर कई अन्य महिला साध्वियों का भी यौन शोषण किया।

ये मामला 2002 का है और उस वक़्त डेरा सच्चा सौदा में ही रहने वाली एक अनुनायी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी को एक चिट्ठी लिखकर इस मामले का खुलासा किया था l 3 पेजों की इस चिट्ठी में इस महिला अनुनायी ने ये बताया था कि कैसे न सिर्फ उसके साथ बाबा राम रहीम ने बलात्कार किया बल्कि वो डेरा की दूसरी महिला अनुनायिओं के साथ भी ऐसा करते हैं l तत्कालीन पीएम को मिली इस चिट्ठी के बाद इस मामले में जांच शुरू कर दी गयी थी l

दरअसल, साल 2002 में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने साध्वी की तरफ से तत्कालीन प्रधानमंत्री को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ लिखे यौन शोषण के पत्र पर स्वत: संज्ञान लेते हुए सीबीआई को डेरा चीफ राम रहीम के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा।

उसके बाद पूरे मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया। केन्द्रीय जांच एजेंसी ने उस समय 18 साध्वियों से पूछताछ की जिनमें से दो ने बाबा राम रहीम के खिलाफ रेप का संगीन आरोप लगाया। सीबीआई की विशेष अदालत में 30 जुलाई 2007 को चार्जशीट दाखिल की गई जिसमें साध्वी के बयान को उसका अहम हिस्सा बनाया गया था।

एक साध्वी ने अपने बयान में बताया था कि जब वे डेरा चीफ के चैम्बर में आयी तो उसका दरवाजा अचानक बंद हो गया और उसने देखा कि वहां पर बड़ी स्क्रीन में पोर्न मूवी चल रही थी। ऐसा कहा जा रहा था कि सीबीआई इस बयान को बड़ी बारीकी से अपनी जांच में आगे बढ़ा रही थी क्योंकि उस चैंबर तक महज कुछ लोगों की ही पहुंच होती थी।

इसके बाद शुक्रवार को  सीबीआई अदालत ने बलात्कार का दोषी घोषित करते हुए उन्हें जेल भेजने का आदेश दिया, जिसके बाद ख़बरें आयीं कि उनके समर्थक बुरी तरह से भड़क गए हैं और दिल्ली समेत कई अन्य शहरों में आगजनी कर रहे हैं l अब तक इस हिंसा में करीब 35 लोगों की मौत हो चुकी है और हजारों लोग घायल हो गए हैं l देश के करीब 5 राज्यों के कई जिलों में धारा 144 लगा दी गयी है, और सरकारी दफ़्तर और स्कूल, कॉलेजों को बंद कर दिया गया है l इस बीच बाबा राम रहीम और की जा रही हिंसा को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है l

डेरा प्रमुख का कांग्रेस कनेक्शन सामने आ रहा है l जाने-माने वकील प्रशांत उमराओ ने खुलासा किया है कि डेरा प्रमुख बाबा राम रहीम के बेटे जसमीत सिंह की शादी कांग्रेस के बड़े नेता हरमिंदर सिंह जस्सी की बेटी से हुई है, यानी बाबा राम रहीम कांग्रेस नेता हरमिंदर सिंह जस्सी के समधी हैं l

इसके साथ ही फ़ैल रही हिंसा को लेकर ख़बरें सामने आ रही हैं कि दरअसल कांग्रेसी कार्यकर्ता ही गुंडे हैं, जो आगजनी कर रहे हैं l नेशन फर्स्ट न्यूज़ की ख़बर और उनके ट्वीटस के मुताबिक़ डेरा समर्थकों की आड़ में कोंग्रेसी गुंडे हिंसा व् आगजनी कर रहे हैं और डेरा समर्थकों को भड़का भी रहे हैं l कहा जा रहा है कि डेरा समर्थकों की आड़ में भी कांग्रेसी गुंडे ही बीजेपी को बदनाम करने के लिए हिंसा भड़का रहे हैं l

अगर नेशन फर्स्ट न्यूज़ की इस ख़बर को सच मानें तो इस हिंसा में कांग्रेस का हाथ है l वैसे न्यूज़ स्पिरिट इस ख़बर की पुष्टि नहीं लेकिन ये बड़ा  सवाल है कि इतने बड़े पैमाने पर आख़िर हिंसा हुई कैसे ? क्या किसी भी राजनीतिक शह के मिले बिना इतनी बड़ी हिंसा हो सकती है ? क्या बिना किसी सोर्स के पुलिस और आर्मी को चकमा देकर इतनी बड़ी हिंसा फैलाई जा सकती है ?

आपको बता दें कि अभी कुछ ही वक़्त पहले मध्य प्रदेश किसान आंदोलन में फैली हिंसा के पीछे भी कांग्रेस के हाथ होने के पुख्ता सबूत मिले थे l यहाँ तक कि स्टिंग ऑपरेशन में लोकल कांग्रेसी नेता दंगा करने के लिए भड़काता हुआ नज़र आ रहा था. उस दौरान जिन नेताओं के भड़काऊ भाषण के वीडियो वायरल हुए थे, उनमें शिवपुरी से कांग्रेस विधायक शकुंतला खटीक, रतलाम के कांग्रेस नेता डी पी धाकड़ भी शामिल थे l

शकुंतला खटीक कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की क़रीबी मानी जाती हैं l वीडियो में शकुंतला खटीक पुलिस थाने को जलाने के लिए लोगों को उकसाती दिख रहीं थीं l उस दौरान भी खुलासा हुआ था कि मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार को बदनाम करने के लिए कांग्रेस ने पूरी साज़िश रची थी l

मंदसौर में फायरिंग में किसानों की मौत के बाद बीजेपी की ओर से भी कांग्रेस पर किसानों को हिंसा के लिए भड़काने का आरोप लगाया गया था l कांग्रेस नेताओं के भड़काऊ बयान वाले वीडियो सामने आने के बाद बीजेपी के आरोप सही साबित भी हुए थे और कांग्रेस का पर्दाफ़ाश हुआ था l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *