Friday, December 15, 2017
Home > दुनिया > दुनिया नें माना भारत का लोहा – 21 देशों के सामने ‘मोदी-मोदी’ जपने लगे डोनाल्ड ट्रंप – जिनपिंग हैरान

दुनिया नें माना भारत का लोहा – 21 देशों के सामने ‘मोदी-मोदी’ जपने लगे डोनाल्ड ट्रंप – जिनपिंग हैरान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शक्ति का अहसास आज चीन समेत पूरी दुनिया को हो रहा है. अंतर्राष्ट्रीय मंच पर कुछ ऐसा हुआ, जिसे देख दुनियाभर की मीडिया में भारत के प्रधानमंत्री की चर्चा की जाने लगी है. दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार चीन के दौरे पर थे. चीन के बारे में वैसे भी ट्रंप के विचार काफी सख्त रहे हैं. इसके चलते चीन ने डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत में अपनी पूरी ताकत झोंक दी.

ट्रंप का राजाओं की तरह स्वागत करके उन्हें खुश करने की कोशिश की गयी. चीन ने ट्रंप के साथ बिज़नेस डील भी की और कई अमेरिकी कंपनियों को चीन में व्यापार करने की इजाजत तक दे दी. मगर चीन से निकलकर ट्रंप जैसे ही वियतनाम पहुंचे तो वहां उन्होंने एक बार भी जिनपिंग या उनकी खातिरदारी की बात तक नहीं की. चीन के लिए चिढ़ाने वाली बात ये रही कि वियतनाम में ट्रंप ने जिनपिंग का नाम नहीं लिया, बल्कि नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ़ की.

ट्रंप ने भारत और मोदी का गुणगान करते हुए कहा कि जब से भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था के दरवाज़े खोले हैं. तब से भारत ने अपने मध्यम वर्ग के लिए अवसरों की एक नई दुनिया बनाई है. प्रधानमंत्री मोदी इस विशाल देश और अपने सभी लोगों को एक करने में लगे हैं और वास्तव में वो बहुत बड़ी सफलता के साथ काम कर रहे हैं.

यहाँ सबसे ख़ास बात ये है कि ट्रंप ने पीएम मोदी की तारीफ़ एशिया पैसेफिक के 21 देशों के उस मंच से की, जिस मंच पर भारत होता भी नहीं है. जिस मंच पर अमेरिका के साथ सबसे बड़ी ताकत चीन बन चुका है. डोनाल्ड ट्रंप की ये बात चीन को बहुत चुभ रही होगी, क्योंकि पिछले तीन दिन से वो डोनाल्ड ट्रम्प की ऐसी खातिरदारी में लगा था. जिसमें राजाओं जैसा सत्कार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई. लेकिन ये सब सत्कार ट्रंप ने चीन से निकलते ही एक झटके में बेकार कर दिया.

इस बात की ओर पूरी दुनिया का ध्यान गया कि ट्रंप किस तरह से भारत की तारीफों के पुल बांधे जा रहे थे. सारी दुनिया मोदी की अंतर्राष्ट्रीय कूटनीति की ताकत देख रही है. भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसके ना केवल रूस के साथ बल्कि अमेरिका के साथ भी घनिष्ठ सम्बन्ध बन चुके हैं. ट्रंप के अंदाज से साबित हो गया है कि एपेक में भारत शामिल होने जा रहा है.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *