Friday, December 15, 2017
Home > दुनिया > झूठ पर झूठ बोल रही कांग्रेस को फ़्रांस ने जड़ा जोरदार तमाचा – सोनिया राहुल रह गए दंग

झूठ पर झूठ बोल रही कांग्रेस को फ़्रांस ने जड़ा जोरदार तमाचा – सोनिया राहुल रह गए दंग

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने मानो अपनी मिटटी पलीद करवाने की मन में ठान ली है l राहुल गाँधी को जबरदस्ती देश पर थोपने की कोशिशों में लगी कांग्रेस अब केवल देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी फजीहत करवा रही है l ताजा मामला फ्रांस का है, फ्रांस ने कांग्रेस को झटका देते हुए उसकी बड़ी फजीहत कर दी है, जिसे देख राहुल कुछ सकपका से गए हैं l

दरअसल किसी भी कीमत पर गुजरात चुनाव जीतने की कोशिशों में लगी कांग्रेस ने पीएम मोदी पर फ्रांस से राफेल एयरक्राफ्ट खरीद में घोटाले का आरोप लगा दिया l इस पर फ्रांस ने कांग्रेस को कड़ी फटकार लगाते हुए इस डील में किसी भी तरह का घोटाला होने से इंकार कर दिया l हालांकि फ्रांस ने सीधे तौर पर कांग्रेस का नाम नहीं लिया मगर फिर भी खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि किसी भी तरह का दावा करने से पहले तथ्यों की जांच जरूर करनी चाहिए l

कांग्रेस ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया था कि लड़ाकू विमानों की कीमत 526 करोड़ है, जबकि सौदा 1571 करोड़ में हुआ है, यानी पीएम मोदी ने बीच में घपला कर लिया, मगर फ्रांस के एक अधिकारी ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा कि, ‘मैं भारत की आंतरिक राजनीति में हस्तक्षेप नहीं करना चाहता हूं, लेकिन इस डील में कुछ भी गलत नहीं हुआ है l उन्होंने कहा कि इन जेट्स की डील इनकी परफॉर्मेंस के आधार पर की गई है.’l

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने राफेल एयरक्राफ्ट खरीद में मोदी सरकार पर घोटाले का आरोप लगाया है l सुरजेवाला का कहना है कि राफेल खरीद में कोई पारदर्शिता नहीं है l सुरजेवाला के मुताबिक, मोदी सरकार इस सौदे से राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है l उन्होंने दावा किया कि लड़ाकू विमानों की कीमत 526 करोड़ है जबकि सौदा 1571 करोड़ का हुआ है l

रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि 20 अगस्त 2007 में 126 लड़ाकू एयरक्राफ्ट खरीदने के लिए नोटिस जारी की गई थी और इस डील के लिए दो कंपनियां सामने आईं, जिनमें से राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉल्ट का चयन किया गया था l सौदे की यह शर्त थी कि 18 राफेल एयरक्राफ्ट फ्रांस में बनेंगे और कंपनी की मदद से 108 एयरक्राफ्ट भारत मे बनेगें l

आपको बता दें कि ये डील 23 सितंबर, 2016 को फ्रांस के रक्षामंत्री ज्यां ईव द्रियां और भारत के तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर ने नई दिल्ली में साइन की थी l भारत सरकार ने 59000 करोड़ की फ्रांस से डील की थी और इस डील के मुताबिक, 36 राफेल फाइटर जेट विमान मिलने हैं l पहला विमान सितंबर 2019 तक मिलने की उम्मीद है और बाकी के विमान बीच-बीच में 2022 तक मिलने की उम्मीद जताई जा रही है l

बहरहाल किसी तरह घोटाले का आरोप लगा कर राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिशों में लगी कांग्रेस को मुँह की खानी पड़ी है और दुनियाभर में अपमान हुआ सो अलग l अभी तक तो अपने ही देश में फटकार खाते थे, मगर अब अन्य देशों से भी फटकार खाने लगे हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *