Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > इजराइल को पीछे छोड़ भारतीय सेना को मिला जबरदस्त हथियार, एलओसी पर पाक फ़ौज में हाहाकार

इजराइल को पीछे छोड़ भारतीय सेना को मिला जबरदस्त हथियार, एलओसी पर पाक फ़ौज में हाहाकार

पाकिस्तान के मटियामेट होने का वक़्त आ गया है. पीएम मोदी ने पाकिस्तान को अलग-थलग करने में सफलता पा ली है और अमेरिका समेत दुनिया के कई बड़े देशों ने पाकिस्तान का साथ छोड़ दिया है. वहीँ भारतीय सेना को भी पाकिस्तान की ईंट से ईंट बजाने का सामान मिलने जा रहा है, जिसके बाद एलओसी पर पाकिस्तानी सेना एक भी गोली चलाने की हिम्मत नहीं कर सकेगी.

डीआरडीओ द्वारा बनाये गए वेपन लोकेटिंग रेडार ‘स्वाति’ को तो भारतीय सेना को पहले ही सौंपा जा चुका है. खबर है कि ऐसे 30 रडार भारतीय सेना को जल्द ही मिलने वाले हैं, जिन्हे पाकिस्तान से सटी सीमा और एलओसी पर तैनात किया जाएगा.

बता दें कि ‘स्वाति’ के नाम से ही पाक फ़ौज थर-थर काँप उठती है. दरअसल भारत के साथ आमने-सामने लड़े गए सभी युद्धों में पाकिस्तान को हमेशा मुँह की खानी पड़ी है. ऐसे में पाक सैनिक छुप कर सीमा पार से गोलियां, मोर्टार और रॉकेट दागते रहते हैं.

भारतीय सेना भी जवाबी कार्रवाई करती तो है लेकिन गोलीबारी करने वाले पाक सैनिकों की सटीक जानकारी न होने की वजह से भारतीय सेना के सामने मुश्किल आती है. मगर 30 स्वाति रडार सिस्टम की एलओसी पर तैनाती के बाद जैसे ही पाकिस्तान की तरफ से छिप कर हमला होगा, भारतीय सेना के जवानों को तुरंत पता चल जाएगा कि फायरिंग कहां से हो रही है, रॉकेट कहां से दागे जा रहे हैं और उनकी दूरी और ट्रेजेक्टरी क्या है.

30 नए स्वाति रडार के जरिए यह सब जानकारी चंद मिनटों में मिल जाएगी और उसके बाद भारतीय सेना सटीक हमला करेगी और पाकिस्तानी पोस्ट या गोलीबारी की जगह को पलक झपकते ही तबाह कर देगी.

स्वाति रडार सिस्टम के द्वारा दुश्मन की ओर से हो की जा रही गोलीबारी की सटीक लोकेशन या ठिकाने का पता चल जाता है. ये दुश्मन के मोर्टार रॉकेट लॉन्चर और आर्टिलरी गन को सिर्फ एक से दो मिनट में तबाह करने की ताकत रखता है. स्वाति रडार सिस्टम की रेंज 30 से 50 किलोमीटर तक है.

सबसे ख़ास बात ये है कि इस रडार सिस्टम को फायर सिस्टम से जोड़ा जाएगा, जिससे सीमा पर होने वाली फायरिंग की जानकारी के साथ दुश्मन को ऑटोमैटिक मुहतोड़ जवाब दिया जा सकेगा. मतलब यहाँ पाक फ़ौज ने मोर्टार दागा और पलक झपकते ही ‘स्वाति’ मोर्टार हमले की जगह का पता लगाते हुए आटोमेटिक हमला कर देगा और दुश्मन के संभलने से पहले ही उसका काम-तमाम हो जाएगा.

ये रडार सिस्टम रात में भी काम करता है, मतलब पाक फ़ौज जो कायरों की तरह से रात में छिप कर हमला करती है, वो भी इसके कारण रुक जाएगा. 30 नए रडार की तैनाती के बाद पाक सैनिक या आतंकी पहाड़ों में छिपकर अपने पापी मंसूबों को कभी अंजाम नहीं दे पाएंगे, एलओसी से सटे 50 किलोमीटर के दायरे में किसी भी पाकिस्तानी पोस्ट या बंकर से फायरिंग हुई तो अगले ही पल वो पूरा इलाका धुआं-धुआं हो जाएगा.

जिस-जिस इलाके में ‘स्वाति’ की तैनाती हो चुकी है, वहां पाक फ़ौज के हमले बंद हो गए हैं. इसकी वजह यह है कि भारतीय सेना को इस रडार से पाकिस्तान की चौकी और पोस्ट की सटीक लोकेशन मिल जा रही है, जिससे भारतीय सेना भी मुंहतोड़ जवाब दे रही है.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *