Tuesday, January 16, 2018
Home > देश > मौलाना के इन बोलों से घबराये कट्टरपंथी – बोले – खबरदार किसी ने राम – कृष्ण के ख़िलाफ़ जुबान खोली तो ……

मौलाना के इन बोलों से घबराये कट्टरपंथी – बोले – खबरदार किसी ने राम – कृष्ण के ख़िलाफ़ जुबान खोली तो ……

देश के एक बड़े मौलाना ने भगवान राम और कृष्ण को लेकर जो बोला है, उसे सुनकर देश के कट्टरपंथी और धर्म के ठेकेदार बेहद परेशान हो सकते हैं l ओवैसी समेत दूसरे मज़हबी ठेकेदारों को मौलाना के ये बोल बेहद परेशान कर सकते हैं l

एक तरफ शिया वक्फ बोर्ड अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण की वकालत कर रहा है, तो दूसरी तरफ सुन्नी वक्फ बोर्ड इसके सख्त ख़िलाफ़ है l जबकि एक सुन्नी धर्मगुर l मौलाना याहया करीमी ने मेवात में भगवान श्रीराम और कृष्ण के मान-सम्मान में ऐसा कुछ कहा कि हिंदू उनकी तारीफ करने के लिए मजबूर हो गए l

करीमी ने कहा कि इस्लाम में राम और कृष्ण या किसी भी धर्म पर सवाल उठाना गुनाह है l आपको बता दें कि मौलाना करीमी जमीयत उलेमा-ए-हिंद (हरियाणा, हिमाचल, पंजाब यूनिट) के अध्यक्ष हैं और उन्होंने मेवात के एक कार्यक्रम में सभी को भगवान श्रीराम और कृष्ण का सम्मान करने की नसीहत दी l

करीमी ने कहा कि,  “1.24 लाख नबी (अवतार) जमीन पर आए हैं और मजहब-ए-इस्लाम कहता है कि राम जी या कृष्ण जी या और किसी धर्म के लोग हो सकता है 572 ईस्वी से पहले अपने वक्त के नबी हों l उन्होंने कहा कि इस्लाम मजहब ये कहता है कि खबरदार राम के खिलाफ जुबान खोली तो, खबरदार कृष्ण के खिलाफ जुबान खोली तो, खबरदार किसी मजहबी रहनुमा के खिलाफ जुबान खोली तो….”l

करीमी ने धर्म के नाम पर कट्टरता फैलाने वालों को संदेश देते हुए कहा कि “वो कौम के गुंडे और गद्दार हैं जो दूसरे मजहब के लोगों पर उंगली उठाते हैं l उन्होंने कहा कि बिना किसी मजहब का ध्यान रखते हुए अगर राम के बताए रास्ते पर चलना है तो सभी को मिलकर जुल्म के खिलाफ लड़ाई लड़नी पड़ेगी और जालिम को धर्म से न जोड़कर सिर्फ उसे गुनाहगार के तौर पर देखने की जरूरत है.”l

करीमी ने कहा कि “हम सब आदमवंशी और मनुवंशी हैं और इसलिए हम सबको प्यार-मोहब्बत का बर्ताव करना चाहिए l मजहब किसी का सिर काटने की कैसे इजाजत दे सकता है और इसलिए हमारा मज़हब इस्लाम हो, सनातनं धर्म हो या कोई और, वह मोहब्बत का पैगाम देता है.”l


एक हिंदी न्यूज़ चैनल से बात करते हुए  मौलाना ने कहा कि “जब हम किसी को ग़लत बोलेंगे तो वह हमारे धर्म के खिलाफ ऐसा ही बोलेगा. इसीलिए किसी को भी दूसरे धर्म पर उंगली नहीं उठानी चाहिए.”l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *