Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > मोदी की रैली में जाने पर मुस्लिम युवक ने दी पत्नी को ऐसी सजा कि सुनकर आपकी रूह काँप जाये – क्या यही कहता है इस्लाम ?

मोदी की रैली में जाने पर मुस्लिम युवक ने दी पत्नी को ऐसी सजा कि सुनकर आपकी रूह काँप जाये – क्या यही कहता है इस्लाम ?

यूं तो इस्लाम को शांति का मज़हब कहते हैं लेकिन इसी इस्लाम और कट्टरपन के नाम पर जो दुनिया भर में हो रहा है, वो वाकई बेहद शर्मनाक और डरावना है l कभी ज़ेहाद तो कभी हलाला, कभी तीन तलाक तो कभी खतना l इस्लाम के नाम पर महिलाओं को मजबूर करके उन्हें बेइज्ज़त करना और धर्म के नाम पर बेगुनाहों का खून बहाना l शायद इस्लाम की परिभाषा अब इतनी मात्र ही रह गयी है l हांलाकि ऐसा नहीं है कि इस धर्म को मानने वाले हर शख्स की सोच ऐसी हो लेकिन दुनिया के किसी भी कोने से आपके सामने जब किसी आतंकी का नाम सामने आएगा तो वो कसाब, ओसामा या फिर दाऊद ही होगा l

इसी इस्लाम के नाम पर अब उत्तर प्रदेश से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप दंग रह जायेंगे l पति पत्नी के पवित्र रिश्ते को महज़ एक छोटी सी वज़ह से छोड़ देना, क्या इस्लाम यही कहता है ? सुप्रीम कोर्ट ने भले ही तीन तलाक़ पर रोक लगा दी हो लेकिन अभी भी इससे जुड़े मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं।

बरेली में भी तीन तलाक का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां एक पति ने अपनी पत्नी को इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि वो प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में निकाली गई रैली में शरीक हो गई थी।जी हाँ, ये वाकई बेहद चौंकाने वाला है, लेकिन सच है l दरअसल एक मुस्लिम युवक ने अपनी पत्नी को महज़ इसलिए तीन तलाक़ दे दिया क्योंकि वो पीएम मोदी की रैली में गयी थी l क्या इस्लाम इतनी नफरत सिखाता है ? क्या पीएम मोदी से नफ़रत की हद इस कदर बढ़ गयी है कि महज़ रैली में जाने पर अपनी पत्नी को तलाक़ दे दिया जाए ?

हालांकि मामला मीडिया की सुर्खियां बना तो दोनों ने एक दूसरे पर अवैध संबंधों का आरोप मढ़ दिया। पत्नी का कहना है कि उसके पति के अपनी चाची से अवैध संबंध हैं जिससे उसे एक बेटा भी है, वहीं पति का कहना है कि उसकी पत्नी के दूसरे युवकों से अवैध संबंध हैं और वह जींस भी पहनती है।

आपको बता दें कि तीन तलाक का ये अजीबोगरीब मामला है, बरेली के इंग्लिशगंज का है l यहां के रहने वाले दानिश ने दो दिन पहले अपनी पत्नी फायरा को तीन तलाक दे दिया था। इसके विरोध में पत्नी ने पति और सास-ससुर सहित सात लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज करा दी। महिला के अनुसार दो दिन पहले पति दानिश ने झगड़ा होने पर गुस्से में उसे घर से निकाल दिया था।

दानिश ने उससे अपने घर से दस हजार रुपये लाने की भी मांग की, मना करने पर उसकी पिटाई की गई। फायरा के अनुसार पिटाई के बाद वह मदद के लिए मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी के पास पहुंची, जो उस समय तीन तलाक पर कानून बनाने के प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताने के लिए रैली निकाल रही थीं। लिहाजा, वह भी इस रैली में शामिल हो गई। आरोप है कि जब वह घर लौटी तो दानिश ने उसे तीन तलाक दे दिया l

इस पर वह थाने पहुंची और पति सहित सात लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा दिया।  महिला का आरोप था कि उसका पति प्रधानमंत्री मोदी के पक्ष में निकली रैली में शिरकत करने से भी नाराज था।

दूसरी ओर मामले में उस समय ट्विस्ट आ गया जब पति ने आरोप लगाया कि उसकी पत्नी के दूसरे युवकों से अवैध संबंध है और वो उसकी बात भी नहीं मानती। इसके अलावा वह बाहर जींस पहनकर भी घूमती थी इसलिए उसने उसे तलाक दिया है लेकिन तीन तलाक नहीं। अब मैं उसे अपने सा‌थ नहीं रखना चाहता। दानिश का आरोप है कि फायरा का चाचा अब उसे धमकी दे रहा है। वहीं महिला ने भी पति पर अवैध संबंधों का आरोप मढ़ दिया।

फायरा के अनुसार उसके पति दानिश के अपनी चाची से अवैध संबंध हैं और उससे उसे एक बेटा भी है। फायरा के अनुसार वह प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में निकाली गई रैली में शामिल होने गई थी, इससे चिढ़े पति ने उसे धमकी देते हुए कहा कि वह उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकते और उसे तीन तलाक दे दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *