Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > कांग्रेस का खुला एक और घोटाला – सोनिया और राहुल गाँधी फंसे मुश्किल में – स्वामी ने फोड़ा भांडा

कांग्रेस का खुला एक और घोटाला – सोनिया और राहुल गाँधी फंसे मुश्किल में – स्वामी ने फोड़ा भांडा

“पाप का घड़ा एक ना एक दिन जरूर फूटता है” ये कहावत देश की सबसे पुरानी और सबसे भ्रष्ट राजनीतिक पार्टी कांग्रेस प्रमुख सोनिया गाँधी और उनके बेटे राहुल गाँधी पर पूरी तरह से चरितार्थ होती है l अब तक बड़े कांग्रेसी नेताओं पर आरोप तो लगते थे, लेकिन ये भ्रष्ट नेता घपले इतनी सफाई से करते हैं कि साबित कुछ नहीं हो पाता था l इसी के चक्कर में ये साफ़ बच निकलते थे. मगर अब हालात बदल गए हैं l एक बड़ी खबर के मुताबिक़ सोनिया और राहुल के हवाला से कनेक्शन के पुख्ता सबूत जांच एजेंसी को मिल गए हैं l

दरअसल टाइम्स नाउ ने ये खुलासा किया है कि उन्हें कुछ ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिनसे साबित होता है कि गाँधी परिवार के मालिकाना हक़ वाली यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने हवाला के धंधे में लिप्त अपराधियों द्वारा कोलकाता से चलाई जा रही एक शैल (कागजी) कंपनी से कर्जा लिया था l

इस बड़े खुलासे से ये साफ़ हो गया है कि सोनिया गाँधी व् राहुल गाँधी के ना केवल हवाला ऑपरेटर से संपर्क हैं बल्कि उनके साथ मिलकर हेरा-फेरी भी करते हैं l

नेशनल हेराल्ड अखबार को प्रकाशित करने वाली एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के साथ लेन-देन को लेकर कांग्रेस प्रमुख सोनिया गाँधी और युवराज राहुल गाँधी पहले से आयकर विभाग के रडार पर हैं और अब ये ताजा खुलासा नेशनल हेराल्ड केस में गांधी परिवार के लिए एक बड़ा झटका साबित हुआ है l

टाइम्स नाउ के हाथ जांच रिपोर्ट भी लगी है, जिसके आधार पर पता चला है कि सोनिया और राहुल गाँधी के मालिकाना हक़ वाली यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के हवाला ऑपरेटर के साथ लिंक थे l मजे की बात ये है कि ये घोटाला अपने पैसों से नहीं बल्कि कालेधन से किया गया l दस्तावेजों के मुताबिक़ गाँधी माँ-बेटे ने कोलकाता के एक हवाला ऑपरेटर से करीब 1 करोड़ का कर्जा लिया और इसी कालेधन के जरिये इन फर्जी गांधियों ने एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड का अधिग्रहण कर लिया और उसके मालिक बन बैठे l

ख़बर के मुताबिक़ राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी ने  हवाला के जरिये कालाधन लेकर यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का इस्तमाल करके एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड का मालिकाना हक हासिल कर लिया अब जबकि आयकर विभाग यंग इंडिया द्वारा एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड को खरीदे जाने के केस की जांच कर रहा है, तो जल्द ही आयकर विभाग एक चार्जशीट फाइल करके आरोपियों पर 250 करोड़ रुपये का जुर्माना ठोंक सकता है l

आपको बता दें कि अक्टूबर 2017 को आयकर विभाग ने यंग इंडिया की टैक्स छूट को भी खारिज कर दिया था और इस मामले में याचिकाकर्ता बीजेपी नेता डॉक्टर सुब्रमनियन स्वामी का कहना है कि अबतक मिले सबूतों के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सोनिया, राहुल गाँधी समेत शामिल अन्य लोगों  के ख़िलाफ़ मनी लॉन्ड्रिंग के लिए मामला दर्ज कर सकता है और इन्हे पूछताछ के लिए हिरासत में ले सकता है l

आयकर विभाग पहले ही यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को 24 पन्नों का नोटिस जारी करके कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को 2 हज़ार करोड़ संपत्ति सौदे में असली लाभार्थी बता चुका है l वैसे केवल सेनिया और राहुल गांधी ही नहीं, इस मामले में प्रियंका गांधी, कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और नेहरू-गांधी परिवार के  गरीबी माने जाने वाले सैम पित्रोदा भी शामिल हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *