Wednesday, January 17, 2018
Home > दुनिया > पीएम मोदी का कमाल – चीन के साथ पाक को भी किया बेहाल – अब नहीं कर पायेगा आतंकी हमला

पीएम मोदी का कमाल – चीन के साथ पाक को भी किया बेहाल – अब नहीं कर पायेगा आतंकी हमला

पीएम मोदी ने एक बार फिर चीन को उसकी औकात दिखा दी है l पीएम मोदी के इस कदम से चीन का हमदर्द पाकिस्तान भी बौखला सा गया है l उसे समझ नहीं आ रहा कि आख़िर वो करे तो क्या करे ?

चीन में चल रहे ब्रिक्स सम्मेलन में जारी घोषणापत्र में आतंकवाद पर जमकर निशाना साधा गया है l ख़ास बात यह है कि इसमें कई पाकिस्तानी आतंकी संगठनों का जिक्र है और ऐसा पहली बार हुआ है, जब ब्रिक्स घोषणापत्र में आतंकी संगठनों के नाम का जिक्र किया गया है।

ब्रिक्स में जिन पाक आतंकी संगठनों का जिक्र है, उनमें जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हैं । दिलचस्प बात यह है कि जैश चीफ मसूद अजहर पर यूएन प्रतिबंध लगाने की भारत की कोशिशों में चीन कई बार अड़ंगा लगा चुका है, ऐसे में वाजिब सवाल है कि क्या चीन अब आतंकवाद के मुद्दे पर बेहद नजदीकी पाकिस्तान को बचाना बंद करेगा?

यह तो साफ है कि यह घोषणापत्र भारत की एक बड़ी कूटनीतिक जीत है और इसके जरिए भारत आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने में लगे पाकिस्तान का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पर्दाफाश करने में बड़ी कामयाबी पाई है। घोषणापत्र में पाकिस्तान का सीधे तौर पर जिक्र तो नहीं है, लेकिन सभी जानते हैं कि यह मुल्क चीन का नजदीकी है।

चीन में खड़े होकर चीन को साथ लेकर घोषणापत्र में पाकिस्तानी आतंकवादी संगठनों को शामिल करवाना भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत है। बता दें कि गोवा में हुए आखिरी ब्रिक्स सम्मेलन में चीन ने पाकिस्तानी आतंकी संगठनों के नाम घोषणापत्र में शामिल करने नहीं दिया था। पिछली बार जिस वक्त यह सम्मेलन हुआ था, उससे कुछ हफ्ते पहले ही उड़ी में भारतीय सैन्य ठिकाने को पाकिस्तानी आतंकी संगठन ने निशाना बनाया था।

चीन पर भी थोड़ा प्रेशर तो पड़ा ही है और अब उसके लिए जैश चीफ मौलाना मसूद अजहर पर बैन की कोशिश को वीटो करना बेहद शर्मिंदगी की वजह बन जाएगा। जिस घोषणापत्र में जैश की निंदा की गई है, उस पर प्रेजिडेंट शी चिनफिंग की भी मंजूरी है। इस घोषणापत्र को रजामंदी के साथ सभी देशों ने स्वीकार किया है और इस पर सभी 5 राष्ट्र प्रमुखों की रजामंदी भी है।

हालांकि, कुछ कूटनीतिक जानकार यह भी कहते हैं कि चीन को जो रुख अभी तक जारी है, उसे देखकर ऐसा लगता है कि पाकिस्तान को लेकर उसका रवैया भविष्य में भी नहीं बदलने वाला है लेकिन अब भारत के इस कदम के बाद पाक को भारत पर आतंकी हमले करने से पहले सौ बार सोचना पड़ेगा l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *