Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > आधी रात को मदरसे पर पुलिस के छापे ने उड़ाये कट्टरपंथियों के होश – उसके बाद जो हुआ…..

आधी रात को मदरसे पर पुलिस के छापे ने उड़ाये कट्टरपंथियों के होश – उसके बाद जो हुआ…..

मदरसे की आड़ में ऐसे काम किये जा रहे थे, जिसे पढ़कर आप दंग रह जायेंगे, लेकिन पुलिस ने जब इस मदरसे पर छापा मारा तो ऐसे राज खुले जिसे देखकर पुलिस भी सन्न रह गयी l सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को अपराधमुक्त बनाने का जो वादा किया था, उसमे वो पूरी तरह से खरे उतारते नज़र आ रहे हैं l अभी बुधवार को ही योगी कैबिनेट ने मकोका की तर्ज़ पर उत्तर प्रदेश में भी यूपीकोका को मंज़ूरी दे दी है और इसी विधानसभा में ये क़ानून उत्तर प्रदेश में पास हो जायेगा l

योगी के वादे को जमीनी सच्चाई बनाने के लिए सरकारी अफसर दिन-रात काम कर के अपने कर्त्वय का पालन कर रहे हैं और अपराधियों को सीधे ठोका जा रहा है l इसी कड़ी में पुलिस को एक मदरसे से जुडी गुप्त सूचना मिली और तुरंत स्वॉट टीम व कोतवाली पुलिस ने उसपर धावा बोल दिया l

केपी कालेज के पास गुरुवार की रात पुलिस पार्टी पर फायर झोंककर भाग रहे तीन बदमाशों को पुलिस ने दबोच लिया और उनकी निशानदेही पर पुलिस ने मदरसा संचालक को भी उठा लिया। पुलिस का दावा है कि ये बदमाश टाइनी शाखा संचालक हत्याकांड समेत लूट की कई घटनाओं में शामिल थे और सबने अपना जुर्म भी स्वीकार कर लिया है। इनके पास से तीन पिस्टल, एक लैपटॉप और एक अपाची बाइक बरामद की गई है।

एसपी शगुन गौतम के निर्देश पर गुरुवार रात नगर कोतवाल और स्वॉट टीम प्रभारी दलबल के साथ केपी कॉलेज की ओर गश्त पर निकले थे। पुलिस के मुताबिक, केपी कॉलेज के पास दो बाइक के साथ पांच लोग खड़े थे। पुलिस को देखते ही उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। अपना बचाव करते हुए घेराबंदी कर पुलिसकर्मियों ने तीन बदमाशों को एक बाइक के साथ दबोच लिया। दूसरी बाइक पर सवार दो बदमाश मौका पाकर भाग निकले।

गिरफ़्तार बदमाशों की निशानदेही पर पुलिस ने आजाद नगर निवासी मदरसा संचालक मौलाना अब्दुल मतीन पुत्र मोहम्मद यूसुफ को घर से उठा लिया। पकड़े गए आरोपियों में नगर कोतवाली के आजाद नगर निवासी मोहम्मद जैद पुत्र अब्दुल हफीज, सैफल रहमान उर्फ नेता पुत्र मोहम्मद वजीन, महुआर निवासी रियाजुल पुत्र मेहंदी हसन शामिल हैं जबकि फरार आरोपी भुलियापुर निवासी सुहैल उर्फ मामा पुत्र गुलहसन व आजाद नगर निवासी तौकिर अहमद उर्फ अब्दुल हफीज हैं।

पकड़े गए बदमाशों ने बताया कि 31 अगस्त को उन्होंने टाइनी शाखा संचालक अजीत सिंह की हत्या कर 114000 रुपये लूट लिए थे। इसके अलावा 26 फरवरी को कटरा-मानधाता रोड पर रामपुर मुस्तई पेट्रोलपंप से 50000 रुपये की लूट की थी। सैफुल रहमान उर्फ नेता ने पुलिस को बताया कि उसने सुहैल उर्फ मामा के साथ 20 सितंबर को चिलबिला ओवरब्रिज पर लूट की नियत से टेंपो से उतारकर एक युवक को गोली मार दी थी।

सूचना मिली थी कि जिसे गोली मारी गई है वह किसी कंपनी में सेल्समैन है और जिसके पास काफी पैसा है। स्थानीय लोगों को देखने के बाद भाग निकले थे। 13 सितंबर को साथी आदिल व उसकी महिला मित्र पारुल जया तिवारी के कहने पर पूरे नरसिंहभान भगंवा में सुरेंद्र सरोज को जान से मारने की नियत से गोली मारी थी।

इसके अलावा 13 जुलाई को गायघाट रोड  पर मोबाइल विक्रेता को गोलीमार कर लूटा गया था। 23 मई को पहाड़पुर मानधाता में किराना व्यापारी को गोली मारकर 25 हजार रुपये लूट लिए थे। 23 जुलाई को मिश्रा पेट्रोलपंप बाबागंज से 50000 रुपये व तीन मोबाइल लूटा गया था। गिरफ्तार बदमाशों ने बताया कि लूट के रुपये व सामान मौलाना अब्दुल मतीन के यहां रखे हैं।

इसके बाद आरोपियों की निशानदेही पर मौलाना को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसपी शगुन गौतम ने बताया कि मदरसा संचालक लुटेरों को संरक्षण देने के साथ ही उनका सामान और हथियार रखता था।  मामला उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के आजाद नगर का हैं, जहाँ बुधवार रात स्वॉट टीम और कोतवाली पुलिस ने मदरसे पर छापा मारा और मदरसा संचालक, उसके बेटे और भतीजे को असामाजिक कार्यों में लिप्त होने के आरोप में गिरफ्तार करके हवालात में डाल दिया l

आपको बता दे कि आजाद नगर निवासी मौलाना मतीन मदसरे और स्कूल का संचालन करते हैं और उन्होंने अपने इस स्कूल के बगल ही अपना मकान भी बनवा रखा है l उनके भाई अब्दुल अलीम ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि बुधवार की रात स्वॉट टीम व कोतवाली पुलिस ने उनके घर पर दबिश दी. पुलिस ने मौलाना मतीन, उनके बेटे फैजान, जैद के अलावा सैफुलर्रहमान को पकड़ लिया और गिरफ्तार करके ले गए l

ख़बर है कि मदरसे की आड़ में असामाजिक काम किये जा रहे थे, पुलिस को जैसे ही इसकी जानकारी मिली , पुलिस ने देर ना करते हुए मौलाना समेत बेटे व् अन्य को उठा लिया l इसके बाद जैसे ही मामले की जानकारी इलाके में फैली, तुरंत बड़ी संख्या में मुस्लिम जमा हो गए और गुरुवार सुबह पूरा हुजूम लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच गए थे l

हुजूम में शामिल कुछ लोगों ने तो धमिकयां तक दे डालीं l वहीँ माइनारटीज वेलफेयर सोसाइटी ने मौलाना मतीन के ख़िलाफ़ की गयी पुलिस कार्रवाई की निंदा की है l नगर अध्यक्ष इसरार अहमद, जफरुल हसन, नसीम, अब्दुल जब्बार, मुहिब्बुल आरफीन, इमाम अली, गुलहसन, लियाकम समेत अन्य लोगों ने चेतावनी दी है कि यदि निर्दोष लोगों पर कोई फर्जी कार्रवाई की गई तो वो लोग आंदोलन करेंगे l

आपको बता दें कि योगी सरकार प्रदेश में चल रहे मदरसों को लेकर काफी सख्त हो गयी है और कई मदरसों में गैर-कानूनी चलाये जाने की ख़बरें सामने आयी हैं, साथ ही कई मदरसे केवल कागजों पर ही चलते हैं, ये मदरसों के नाम पर सालों से सरकारी पैसों की सहायता की लूट करते आ रहे हैं l

इसी सब को बंद करवाने के लिए योगी सरकार ने सभी मदरसों को ऑनलाइन करने का आदेश दिया है l इसके साथ ही किसी तरह की लूट ना हो सके इसके लिए सभी मदरसों का नवीनीकरण करके उन्हें ऑनलाइन किया जाएगा और गैर-कानूनी कामों में लगे मौलानाओं के दिन पूरे हो चुके हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *