Wednesday, January 17, 2018
Home > देश > पूर्व राष्ट्रपति ने थामा पीएम मोदी का हाथ – कांग्रेस में मचा कोहराम – सन्न रह गए माँ बेटे

पूर्व राष्ट्रपति ने थामा पीएम मोदी का हाथ – कांग्रेस में मचा कोहराम – सन्न रह गए माँ बेटे

एक हामिद अंसारी हैं जिन्होंने अपने उपराष्ट्रपति के पद का त्याग करते ही बेहूदा सा बयान दिया कि भारत में आज मुस्लिम सुरक्षित नहीं हैं. जिसमे बा डंकी जमकर खिल्ली उड़ी. हामिद अंसारी कभी चीन नहीं गए वहां उन्हें पता चलता जहाँ मुसलमानों से कुरान और नमाज़ की चटाई भी छीन ली गयी है. तो वहीँ अब प्रणब मुखर्जी ने पीएम मोदी को लेकर ऐसी बात कह दी है जिससे कांग्रेस के पैरों तले ज़मीन खिसक जाएगी.

अभी मिल रही खबर के मुताबिक प्रणब मुखर्जी ने कांग्रेस को दो टूक सुनाई है. उन्होंने कहा है कि सिर्फ सरकार बनाने के लिए या सिर्फ सत्ता पाने के लिए गठबंधन करना बिलकुल गलत था. इसे साफ़ पता चलता है कि प्रणब मुखर्जी ने यूपी में कांग्रेस का सपा के साथ हाथ मिलाना, बिहार में लालू के साथ कांग्रेस का गठबंधन की बात कही गयी है. आगे प्रणब मुखर्जी ने कांग्रेस को ज़ोरदार तमाचा जड़ते हुए कहा कि अगर ऐसे ही गठबंधन करते रहे तो एक दिन कांग्रेस पार्टी का अस्तित्व ही ख़त्म हो जाएगा वो अपनी पहचान ही खो देगी.

ये बात सही है कि कांग्रेस पार्टी 2014 के लोकसभा चुनाव में जितनी बुरी तरह हारी उसके बाद वह भाजपा के साथ सीधा टक्कर नहीं ले सकी. इसलिए कभी आप पार्टी से कभी सपा पार्टी से तो कभी आरजेडी से गठबंधन करके बीजेपी को हराने में लगी रहती है. प्रणब मुखर्जी ने लिखा है कि 2004 के चुनाव में भी भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस के वर्ष 2003 में गठबंधन बनाने के फैसले से वह बिलकुल खुश नहीं थे.

तो वहीँ चार दशक लम्बे अपने सार्वजनिक जीवन में चार अलग-अलग प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी ने मौजूदा पीएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल बांधे जिससे कहीं ना कहीं कांग्रेस पार्टी अंदर तक सुलग जायेगी. डॉ मुखर्जी ने कहा नरेंद्र मोदी में “बेहद मेहनत से काम करने की अद्भुत क्षमता है…” उन्होंने कहा कि इसके साथ ही अपने उद्देश्यों को हासिल करने के लिए उनमें दृढ़ इच्छाशक्ति भी भरपूर है, और उनका दृष्टिकोण भी कतई स्पष्ट है. डॉ मुखर्जी के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी जानते हैं कि उन्हें क्या हासिल करना है, और वह उसे पाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं.

प्रणब मुखर्जी ने कहा मोदी ने प्रशासन, राजनैतिक गतिशीलता तथा विदेश नीति की जटिलताओं को संसद का कोई भी अनुभव हुए बिना समझ लिया. दरअसल जिस व्यक्ति के खुद के अंदर अच्छाई होती है उसे ही केवल दूसरे के अंदर अच्छाई नज़र आ सकती है. जहाँ एक तरफ कांग्रेस पार्टी राहुल गाँधी को अध्यक्ष बनाकर अपनी बची खुची इज्जत समेट रही है, तो वहीँ भाजपा अपने विकास के कार्यों को गिना रही रही है. कांग्रेस चुनावों में यह नहीं बताती की उन्होंने दस साल में क्या किया बल्कि वो ये गिनाती है कि भाजपा ने क्या नहीं किया.

तो वहीँ इससे पहले पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी कांग्रेस के ऊपर हमला बोला था. उन्होंने कहा मैं कभी पीएम योग्य था ही नहीं, मुझे मज़बूरी वश सोनिया मैडम के कहने पर पीएम बनना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *