Friday, December 15, 2017
Home > देश > कांग्रेस के इस बड़े नेता पर रिलायंस ग्रुप करेगा 5000 करोड़ का मानहानि का दावा – सोनिया और राहुल गाँधी के छूटे पसीने

कांग्रेस के इस बड़े नेता पर रिलायंस ग्रुप करेगा 5000 करोड़ का मानहानि का दावा – सोनिया और राहुल गाँधी के छूटे पसीने

गुजरात में कांग्रेस की जीत के सपने लिए राहुल गाँधी जोरदार प्रचार कर रहे हैं और इसी बीच आई एक ख़बर ने राहुल गाँधी को हिलाकर रख दिया है l अनिल अम्बानी के रिलायंस ग्रुप ने कांग्रेस के एक बड़े नेता पर 5,000 करोड़ का दावा ठोंकने का ऐलान किया है l

अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले रिलांयस ग्रुप ने गुरुवार को कहा कि वह ‘झूठे और बदनाम करने वाले बयानों’ के लिए कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी के खिलाफ 5,000 करोड़ का मानहानि का मुकदमा दायर करेगा।

रिलांयस ग्रुप के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। इससे पहले सिंघवी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर जनता को यह कहकर मूर्ख बनाने का आरोप लगाया कि किसी भी बड़े कर्ज नहीं चुका सकने वाले का ऋण माफ नहीं किया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकार ने जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वाले लोगों का 1.88 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है।

उन्होंने कहा कि ‘हम सभी जानते हैं कि शीर्ष 50 कारपोरेट घरानों पर बैंकों का 8.35 लाख करोड़ रुपये बकाया हैं और इसमें से तीन लाख करोड़ गुजरात स्थित तीन शीर्ष कंपनियों (रिलांयस-अनिल अंबानी ग्रुप, अडानी और एस्सार) के पास हैं।

इनमें से एक ने पिछले महीने ही सार्वजनिक रूप से घोषणा की थी कि वे बैंकों की 45 हजार करोड़ रुपये की देनदारी के साथ टेलीकॉम का अपना कारोबार बंद कर रही है। हम वित्त मंत्री से पूछना चाहते हैं कि इसे गैर निष्पादक संपत्तियां (एनपीए) घोषित करने की बजाय आप डिफाल्टर को राफेल जैसे रक्षा सौदे का कांट्रेक्ट देकर उसकी मदद क्यों कर रहे हैं?’

अनिल अम्बानी के नेतृत्व वाले रिलायंस समूह  का कहना है कि वह झूठे और बदनाम करने वाले बयान देने को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी के खिलाफ 5,000 करोड़ रुपये का मानहानि केस करेगा।

रिलायंस समूह के प्रवक्ता ने कहा कि  ‘अभिषेक सिंघवी ने समूह के खिलाफ झूठा, अपमानजनक और निंदनीय बयान दिया है। हम इस तरह के झूठे और अपमानजनक बयान को लेकर सिंघवी के खिलाफ 5,000 करोड़ रुपये का मुकदमा दर्ज करेंगे।’

इससे पहले दिन में सिंघवी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से उद्योगपतियों के कर्ज माफ न करने की बात को लोगों को मूर्ख बनाने वाला बयान बताया। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली लोगों को मूर्ख बना रहे हैं। सिंघवी ने दावा किया कि सरकार ने जानबूझकर पैसे नहीं लौटाने वालों का 1.88 लाख करोड़ रुपये का कर्ज बट्टे खाते में डाल दिया।

उन्होंने कहा, हम सभी जानते हैं कि शीर्ष 50 कंपनियों पर बैंकों का 8.35 लाख करोड़ रुपये का बकाया है और उनमें से गुजरात की तीन कंपनियों रिलायंस अनिल अंबानी समूह, अडाणी तथा एस्सार ग्रुप पर तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है।

सिंघवी ने कहा, उनमें से एक ने पिछले महीने सार्वजनिक रूप से घोषणा की थी कि वह अपना दूरसंचार कारोबार बंद करेंगे, जिस पर बैंकों का 45,000 करोड़ रुपये का बकाया है। उन्होंने इस टिप्पणी के जरिए अप्रत्यक्ष रूप से अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस समूह पर निशाना साधा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *