Friday, December 15, 2017
Home > दुनिया > विश्व गुरु बनने की ओर बढ़ा भारत का पहला कदम – शरण में आया ये बड़ा देश – अब क्या कहेगा विपक्ष ?

विश्व गुरु बनने की ओर बढ़ा भारत का पहला कदम – शरण में आया ये बड़ा देश – अब क्या कहेगा विपक्ष ?

मोदी राज में आज भारत विश्व गुरु बनने की राह पर चल पड़ा है और अब दूसरे देशों ने भारत का मुरीद होना शुरू कर दिया है l भले ही भारत में सियासी फायदे के लिए दूसरे सियासतदान पीएम मोदी और उनकी योजनाओं को कोस रहे हों, लेकिन दुनिया के दूसरे देशों ने अब इन योजनाओं पर अमल करना शुरू कर दिया है l

आज भारत में पीएम मोदी की सरकार में एक से बढ़कर एक योजना शुरू हुई, जैसे खाताधारकों को राशि सीधा उनके बैंक खाते में भेजना, गैस सब्सिडी, जीरो बैलेंस से गरीब लोगों का बैंक अकाउंट खोलना, कॅश लेस अर्थव्यवस्था, डिजिटल बैंकिंग, आधार स्कीम से सभी को जोड़ना l जहाँ आज सीएम ममता बनर्जी और देश का सुप्रीम कोर्ट आधार को बैंक और फोन से जोड़ने का विरोध कर रहा है, वहीँ आज दूसरे देश भारत से प्रभावित हो रहे हैं और भारत की शरण में आ रहे हैं l ये खबर उन लोगों की आखें खोल देगी जो आधार कार्ड का विरोध करते हैं l

ख़बर के मुताबिक आज देश के हर नागरिक का सीना गर्व से फूल उठेगा l पीएम मोदी की अनेक योजनाओ की ताक़त के चलते अब भारत विश्व गुरु बनने की ओर पहला कदम बढ़ा चुका है, जिसमे भारत की शरण में सबसे पहले उत्तरी अफ्रीका देश मोरक्को आया है l

जिस तरह मोदी सरकार आज आधार नंबर से बैंक खातें और पैन कार्ड, राशनकार्ड, गैस सब्सिडी से जोड़ रही है उससे प्रभावित होकर अफ्रीका की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था मोरक्को देश अपनी अर्थव्यवस्था में नागरिकों के लिए विभिन्न सेवाओं को आधार से जोड़ने के लिए भारत की ही तरह लागू करने जा रहा है l

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मोरक्को देश से एक ख़ास प्रतिनिधिमंडल 10 दिनों के दौरे के लिए भारत दौरे पर ख़ास आया था और यहां प्रतिनिधिमंडल ने आधार को सभी से योजना जोड़ना, डीबीटी, गैस सब्सिडी और डिजिटलीकृत बैंकिंग सिस्टम जैसे लाभों के बारे में गहरा अध्ययन किया l

मोरक्को देश के प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्ष नूरुद्दीन बोतायब मोदी सरकार की तारीफ करते हुए थके ही नहीं l वे खुद अचम्भे में थे कि विभिन्न संस्कृतियों वाले और इतनी बड़ी आबादी होने के बावजूद इतनी कम समय में आधार को लागू करना तो वाकई तारीफ के काबिल है  l

इसके बाद वो यहीं नहीं रुके नूरुद्दीन बोतायब ने कहा कि “मोरक्को भारत के सामाजिक-आर्थिक मॉडल पर आधारित स्कीमों को अपने यहाँ भी लागू करवाएगा l  उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि मोदी सरकार की आर्थिक ओर समाजिक योजनाओं साथ भारत इतनी तेज़ कैसे विकसित हो रहा है l

इसके साथ-साथ उन्होंने कहा आज भारत आतंकवाद के खिलाफ कहीं ज़्यादा मज़बूत नज़र आ रहा है l मोरक्को आतंकवाद के खिलाफ अभियान में उत्तर अफ्रीका में भारत के लिए अहम पार्टनर के तौर हर कदम पर साथ खड़ा है l इस संबंध में भारत के साथ अपने अनुभवों को साझा करने के लिए तैयार है l

एक तरफ जहाँ अब दूसरे देश भारत की तेज़ी से बढ़ती अर्थवयवस्था की तरफ खींचे चले आ रहे हैं और योजनाओं को समझने की कोशिश कर रहे हैं, वहीँ दूसरी ओर हमारे ही देश में कुछ लोगों के बिना वजह पेट में दर्द उठने लगता है l अभी बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने हल्ला बोला था कि चाहे कुछ भी हो जाए वो आधार से अपना नंबर लिंक नहीं करेंगी l यही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने भी आधार को अनिवार्य करने से मना कर दिया था l

जबकि आधार नंबर के सबसे जोड़ने से पता चला कि कैसे एक शख्स 150 से ज़्याफ़ा मोबाइल सिम लेकर फर्जीवाड़ा कर रहा था l यही नहीं खुद मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि कुछ भ्रष्टाचारी लोग सरकार को करीब 2000 करोड़ रुपये का हर महीने चूना लगा रहे थे l

ज़रा सोचिये, जनता के मेहनत के पैसों की कैसे जमकर लूट चल रही थी l आप यह जानकार दंग रह जाएंगे कि आधार को अनिवार्य किए जाने के बाद से 5 करोड़ फर्जी बैंक खाते सामने आए हैं, 3.5 करोड़ फर्जी एलपीजी कनेक्‍शन और 1.6 करोड़ फर्जी राशन कार्ड्स बंद कराये गए l

आपको बता दें वैसे आधार कार्ड शुरू तो कांग्रेस सरकार में हुआ था, लेकिन उस वक़्त लाचारी, लापरवाही, गैरज़िम्मेदारी और करप्शन के चलते कभी आधार कार्ड पर किसी कुत्ते का फोटो सामने आता था तो कभी भगवान का l कभी कई दसियों हज़ारों आधार कार्ड सड़क किनारे कूड़े के ढेर में पड़े मिलते थे तो कभी इनका सही उपयोग किया ही नहीं गया, लेकिन आज उसी आधार कार्ड का जब सही उपयोग हो रहा है तो विरोधी छाती पीट रहे हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *