Friday, December 15, 2017
Home > देश > गुजरात से आये पीएम मोदी के इस वीडियो ने उड़ाई कांग्रेस की नींद – सोनिया राहुल समेत कट्टरपंथी सदमे में

गुजरात से आये पीएम मोदी के इस वीडियो ने उड़ाई कांग्रेस की नींद – सोनिया राहुल समेत कट्टरपंथी सदमे में

गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव प्रचार इस वक़्त अपने चरम पर है l बीजेपी की नैया पार लगाने की ज़िम्मेदारी जहाँ खुद पीएम नरेन्द्र मोदी ने संभाल रखी है तो कांग्रेस के खेवनहार बनने की चाह में राहुल भी खूब मेहनत कर रहे हैं l ऐसे में गुजरात से आए पीएम मोदी के एक वीडियो ने राहुल समेत पूरी कांग्रेस की नींद उड़ा दी है l

नरेन्द्र मोदी पर हमेशा मुस्लिम विरोधी होने का ठप्पा लगाती आई कांग्रेस और कट्टरपंथियों को हो सकता है ये वीडियो अच्छा न लगे लेकिन इस वीडियो में पीएम नरेन्द्र मोदी ने जो किया है, वो वाकई काबिलेतारीफ़ कहा जा सकता है l

दरअसल गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करते वक्त प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने एक रैली में अजान की आवाज सुनकर अपना भाषण रोक दिया था। मोदी नवसारी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे और तब ही पास की एक मस्जिद से अजान की आवाज आई थी। आवाज को सुनकर मोदी ने कुछ देर के लिए बोलना रोक दिया, फिर जैसे ही अजान खत्म हुई तो मोदी ने ‘भाईयों-बहनों’ बोलकर अपनी बात फिर से शुरू की।

आपको बता दें कि इससे पहले 2016 में पश्चिम बंगाल में भी ऐसा ही हुआ था। जब पीएम खड़गपुर में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। तब जैसे ही मोदी को अजान सुनाई दी थी तो वह पांच मिनट तक कुछ नहीं बोले थे। अजान के खत्म होने पर पीएम ने कहा था कि मैं किसी की प्रार्थना में दखल नहीं देना चाहता, इसलिए सोचा कुछ देर रुक जाऊं।

पीएम मोदी कल चुनाव प्रचार के लिए गुजरात में थे। अपनी रैलियों में पीएम ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। मोदी ने कहा था कि कांग्रेस को विकास से नफरत है, उन्हें गुजरात से भी नफरत है, वो मुझसे यानी मोदी से भी नफरत करते हैं और अब उन्हें काम करने वाली सरकार और उसके शरीर से निकलने वाले पसीने से भी नफरत हो रही है।

मोदी ने राहुल गांधी के सोमनाथ मंदिर दर्शन पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके परिवार के लोग मंदिर के बनने से खुश नहीं थे। पीएम ने कहा कि अगर सरदार पटेल नहीं होते तो सोमनाथ मंदिर कभी नहीं बन पाता।

मोदी ने पुरानी बातें याद दिलाते हुए कहा कि आज कुछ लोग सोमनाथ मंदिर को याद कर रहे हैं, आप इतिहास भूल गए हैं क्या? आपके परिवार के लोग, हमारे पहले प्रधानमंत्री मंदिर बनने के प्लान से खुश नहीं थे। मोदी ने यह भी आरोप लगाया कि 1980 में जब मोरबी में बांध टूटा था तो इंदिरा गांधी मुंह पर रूमाल रखकर आई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *